बिगरी परी मरकरी

जिल महोबा, ब्लाक जैतपुर, कस्बा बेलाताल। एते लगभग सौ मरकरी लगी हे जोन पचास खराब परी हे। जीसे आदमियन खा रात के अधियारें में निकरें खा परत हे।
राकेश ओर रोशनी ने बताओ कि अगर हम मरकरी सुधरायें खे लाने बिजली विभाग जात हे तो ओते के कर्मचारी रूपइया मांगत हे। मरकरी बिना आधो कस्बा अधेरे में डूबो हे। फूला ओर राम किसुन बताउत हे कि कस्बा में लगी मरकरी शोभा बढ़ाउत हे। राम बिरात निकरे में बोहतई परेशानी होत हे। काय से रात के निकरे में कहूं पांव धरत हे कहूं धर जात हे। एई हे हम सोचत हे कि मरकरी बन जाये तो नींक हो जेहे। तीन महीना से बिगरी मरकरी सुधरे खा नाम नई लेत हे। प्रधान ओर विभाग वाले भी आंखी बन्द करे हे।
प्रधान हरिमोहन ने बताओ कि मरकरी खराब होंय की मोये जानकरी नइयां। अभे भई हे तो मिस्त्री खा बुला के सही करायें वाली मरकरी सही करा दई जेहे। नई दूसरी लगा दई जेहे।