बिखरै से बचा परिवार

जिला अम्बेडकर नगर, ब्लाक कटेहरी, गाँव अहिरौली। हिंआ पति दारू पी कै पत्नी का बहुत सतावत रहिन ससुर मारिन बहूकै हाथ टूट गै। गायत्री नारी संघ के संगठन कै बैठक मा जाए से भै परिवार कै सुधार।
मालती बताइन कि हमार पति राम गोपाल दुसरे के कहे मा चलत रहिन। अउर दुसरे के कहे से हमका गाली दियाथिन। सयान बिटिया का भी बेकार-बेकार गारी दियै। एक दिन सुबेरे उठै मा देर होइगै तौ हमरे ससुर रामसरोज हमका मारिन हाथ टूट गै। बिटिया सन्जनी बताइन कि हमार मम्मी अमरीका के घरे आवत जाथिन बताइन कि जब जहां हम मना करीथी कि उनके घरे न जा तौ यै मनतिन नाय। बार-बार उनहीं के घरे जाथिन।
लोक जागृति संस्थान कै सचिव बताइन कि उनके गाँव मा गायत्री नारी संघ कै एक समिति बना बाय। वहि समिति कै अगुवा भगवानदेयी अउर सुनीता हईन। एक दिन मालती आपन बीती कहानी भगवान देयी से बताइन तौ 20 नवम्बर 2013 कै ब्लाक पै बी.ए.जी. कै बैठक रहा वहि बैठक मा पति राम गोपाल अउर मालती का बोलाई गै दुइनौ जने आइन नारी संघ कै जेतना बहिन रहिन सब उनका समझाइन अउर डेरवाईन कि अगर महिला थाना मा जाइके रिपोर्ट कई देईहै जेल चला जाबा तौ परिवार बिखर जाये। 1090 पै काल कइके बताय देईहै तौ बहुत मुषीबत मा पड़ जाबा। यहि नाते पति पत्नी कै बराबर कै भागीदारी बाय। एक दूसरे कै बात मान के रहा आप उनकै बात माना वै आपकै बात मानै। वहि दिन दुइनों जने सहमत भइन एक दुसरे कै बात मानै का तैयार भइन लगभग 10 साल बाद पति-पत्नी मा भै बोल चाल।