बारिश के मार से बची फसल आगी के मुंह समां गे

फसल की आग बुझाते किसान
फसल की आग बुझाते किसान

जिला बांदा, ब्लाक महुआ, गांव छिबांव मजरा भालू का पुरवा अउर जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी का गांव भगवतपुर। भालू का पुरवा मा मलखन वर्मा के घर मा 13 अप्रैल 2014 का रात एक बजे आगी लाग वहिके एक अटारी जल गे है। भगवतपुर मा 9 अप्रैल 2014 का बिजली के तार से खेतन मा आगी लाग। जेहिसे पचासन बिगहा के फसल जल के राख होइगे।
भालू का पुरवा का मलखान वर्मा कहत है कि मोर घर जलैं से पचास हजार का नुकसान भा है। मैं घर मा नहीं रहंव। इटरा गांव गेहूं काटै चला गा रहौं। गृहस्थी का सामान, चार कुन्तल गेहूं, एक कुंतल चावल अउर 43 सौ रूपिया जल के राख होई गा है।
भगवतपुर गांव का मेघालाल कहत है कि मोर तीन बिगहा के फसल जल के राख होइगे है। रामपाल, बहादुर, विद्यावती अउर मंशी कहत है कि हमार सब लोगन के फसल जलगे है। या साल एक तौ बारिश फसल बरबाद करिस दूसर जउन बची वा आगी के मुंह मा समां गे। साल भर हमार पेट रोटी अउर घर खर्च कसत चली। आगी लगतै भरतकूप चैकी का सूचना दीन है, पै दुई घण्टा बाद आगी बुझावैं वाली मशीन आई है। हम लोग अरहरी के पेड़ से आगी बुझावा है। या मारै गुस्सान किसान सड़क जाम करिन। तबै फतेहगंज एस.ओ. आ के जाम खुलाइन हैं।
भगवतपुर के घटना मा कर्वी तहसीलदार भगवानदास कहिन-“जांच खातिर लेखपाल भेजा गा है। जांच के बाद कारवाही होई।”

मलखान वर्मा का जला घर
मलखान वर्मा का जला घर