बलात्कार का सामना करने वाली सुजैट जार्डन का निधन

suzette-jordanकलकत्ता। इंसाफ के लिए पश्चिम बंगाल सरकार से टक्कर लेने वाली ‘पार्क स्ट्रीट रेप केस’ की संघर्षशील महिला सुजैट जॉर्डन का निधन हो गया है।
दो बेटियों की मां सुजैट ने 13 मार्च को कोलकाता के एक हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया। साल 2013 में सुजैट ने सराहनीय कदम उठाते हुए अपने साथ बलात्कार अपनी पहचान जाहिर कर दी थी और राज्य में हो रही बलात्कार और हत्या की घटनाओं के खिलाफ कोलकाता में हो रहे प्रदर्शनों में हिस्सा लिया था। उस समय उन्होंने कहा था, ‘जब इसमें मेरा कोई कसूर नहीं था, तो मैं अपनी पहचान क्यों छिपाऊं? जिसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं, उसके लिए क्यों शर्मिंदा रहूं? मैं क्रूरता की शिकार हुई, मेरा बलात्कार हुआ… फिर भी मैं लड़ रही हूं और आगे भी लड़ती रहूंगी।’

क्या था मामला

फरवरी 2012 में सुजैट कोलकाता की पार्क स्ट्रीट नाम की मशहूर सड़क पर बने नाइट क्लब से निकल रही थीं, तभी उनके जान पहचान के एक व्यक्ति ने उन्हें घर तक छोड़ने की बात कही। वह उस व्यक्ति की गाड़ी में बैठ गईं। इसके बाद सुजैट के साथ बलात्कार की घटना घटी। राज्य की मौजूदा सत्ता में मौजूद पार्टी तृणमूल के सांसद काकोली घोष ने तो उन्हें कॉल गर्ल यानी वेश्या कहते हुए बलात्कार की घटना को लड़की और ग्राहक के बीच का झगड़ा तक कह डाला था।