बरसात में गिरे घर, छपरा डार के करत गुजारा

बरसात में घर की जा हालत
बरसात में घर की जा हालत

जिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव दिदवारा। ई गांव की हरिजन बस्ती में रहे वाले लगभग सौ आदमियन के घर अगस्त 2013 की बारिस में गिर गये हते। जीखो मुआयना भी लेखपाल कर ले गओ हतो, पे आज तक कोनऊ की चेक नई मिली आय।
नानू बसोर, आशाराम ओर लक्ष्मी अहिरवार ने बताओ कि हमाये घर गिरे पांच महीना हो गये। कोनऊ की अटारी तो कोनऊ को पूरो घर गिर गओ हे। जीमें अनाज भूसा के साथे गृहस्थी को पूरा सामान दब के खराब हो गओ हे। एई से हमाये परिवार खुले आसमान के नीचे सोये खा मजबूर हे।
कौशल्या श्री वास ने बताओ कि में विधवा ओरत हों। अपनो घर मेहनत मजदूरी करके चलाउत हों। मोओ पूरो घर गिर गओ हे। एई से में पन्नी को छपरा बना के अपने लड़का खा लेके रहत हों। में अकेली असहाय ओरत आपन घर खर्च ओर पेट मुश्किल से चला पाउत हों। घर केसे बनवा पेहों। अगर सरकार केती से कछू मुआवजा मिल जात तो कछू अपने से लगा के घर बनवा लेबी।
प्रधान नीलेन्द्र ने बताओ कि एक महीना पेहले चेकन खे लाने लेखपाल से कही हती। पे लेखपाल ने अभे तक कछू नईबताओ आय। लेखपाल अजय तिवारी ने बताओ कि पचहत्तर आदमियन की चेक बन खे तैयार हो गई हे। जल्दी ही आदमियन खा चेक बांट दई जेहे।