बदले यहां का माहौल

फ़ोटो1549-1जिला फैजा़बाद। चुनाव के दौरान फैज़ाबाद में माहौल काफी हलचल भरा रहा। धर्म आधारित झगड़े। बिजली पानी जैसी बुनियादी समस्याएं। किसानों को मुआवज़ा न मिलना बड़ी समस्याएं हैं।
सांप्रदायिक माहौल बदलने की ज़रूरत –  अयोध्या करीब होने के कारण यहां का माहौल सांप्रदायिक हो गया है। जब तब झगड़े होते रहते हैं। हनुमानगढ़ी में मिठाई की दुकान लगाए पप्पू कहते हैं चाहें कोई सरकार आए पुलिस की तैनाती से हमें कोई छुटकारा नहीं दिलाएगा। दूसरी दुकान में बैठे बुज़ुर्ग रामशंकर कहते हैं कि लड़कियां का घर से निकलना मुश्किल हो गया है। तैनात पुलिस के सिपाहियों की नज़रें ठीक नहीं हैं।
गन्ना किसानों का हक – पूरे उत्तर प्रदेश की तरह फैज़ाबाद के गन्ना किसान भी चीनी मिलों द्वारा बकाया न अदा करने, कीमत न बढ़ाने से तंगी झेल रहे हैं। विजैनपुर सजहरा के किसान महेश, विनोद ने बताया कि इस बार किसानों और चीनी मिलों के मालिकों के बीच दाम बढ़ाने को लेकर हुए विवाद के कारण खरीद देर से हुई। आधा से ज़्यादा गन्ना खेत में ही सूख गया।
किसानों को नहीं मिलता मुआवज़ा – बरसात चाहे फसलों को बहा ले जाए या फिर उन्हें सड़ा दे। गरमी में पानी न मिलने से फसलें चाहें सूख। लेकिन मुआवज़ा नहीं मिलता। तारुन ब्लाक के मठिया गांव के किसान बहादुर का कहना है कि अबकी सर्दियों में हुई बरसात में गन्ना खराब हो गया। लेकिन मुआवज़ा नहीं मिला।