बच्चा कहिन-स्कूल मा घुसत जानवर

Exif_JPEG_420जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव डोड़िया माफी का पूर्व माध्यमिक स्कूल के चार साल से बाउन्ड्री टूट हवै। बाउन्ड्री बनवावैं खातिर मऊ बी. आर. सी. विभाग मा 1 मई का कहा गा। यहिसे पहिले भी कइयौ दरकी कहा गा पै अबै तक स्कूल के बाउन्ड्री जस के तस हवै।
स्कूल मा पढ़ै वाले बच्चन का कहब हवै कि स्कूल के बाउन्ड्री टूट हवै। यहिसे स्कूल के भीतर जानवर घुस आवत हवै अउर गंदगी फइलावत हवै। अगर स्कूल के बाउन्ड्री बन जाये तौ हमार इं सबै समस्या खतम होइ सकत हवै। हम लोग स्कूल मा पौधा लगाइत हन तौ वा सबै जानवर स्कूल के भीतर आ के खा जात हवै। यहिसे हम लोगन के मेहनत पानी मा पर जात हवै। या सोच के स्कूल मा पौधा लगाइत हन कि हमार स्कूल मा हरा भरा देखाई देइ अउर आक्सीजन भी मिल सकत हवै।
पूर्व माध्यमिक स्कूल के हेडमास्टर रामपाल दीक्षित का कहब हवै कि स्कूल के बाउन्ड्री बनवावैं खातिर मऊ बी. आर. सी. विभाग मा लिखित दीन गे रहै, पै भरोसा दें के बाद अबै तक बाउन्ड्री नहीं बनी आय। स्कूल मा कुल छियालिस बच्चा हवै। बाउन्ड्री टूट होय से बच्चन के पढ़ाई मा असर परत हवै।
मऊ बी. आर. सी. विभाग के सह समन्वयक मार्तण्ड शुक्ला का कहब हवै कि बाउन्ड्री बनवावैं खातिर सरकार कइती से बजट नहीं आवा आय। अगर सरकार कइती से बजट आई तौ बाउन्ड्री बनवा दीन जई।

रिपोर्टर – सुनीता देवी