फैज़ाबाद में महिला डाक्टरों की कमी

16-05-14 Kshetriya Faizabad - Mahila Hospitalजिला फैज़ाबाद। जिले में लंबे समय से महिला डाक्टरों की कमी के कारण आम जनता, खासकर महिलाएं परेशान हैं।
ब्लाक मया। गोशांइगंज कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में महिला डाक्टर नहीं हैं। जिससे महिला मरीज़ों को अपनी समस्या कहने में बहुत दिक्कत होती है।
मया ब्लाक के बरकट गंाव की कुसुम देवी का कहना है कि उन्हें अन्दरूनी बीमारी की दवा लेनी थी लेकिन महिला डाक्टर न होने के कारण वे अपनी समस्या नहीं बता पाईं और स्वास्थ्य केन्द्र से लौट आईं। वहां की नर्स सुनीता का कहना है कि छह महीने पहले यहां की महिला डाक्टर को जिला अस्पताल भेज दिया गया। इससे मरीज़ों को बहुत दिक्कत होती है। महिलाओं को प्रसव के दौरान जानकारी नहीं मिल पाती। मया सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अधीक्षक डाक्टर के. कुमार ने बताया कि जिले में मंाग की है कि महिला डाक्टर भेजी जाएं।
ब्लाक तारुन। यहां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक भी महिला डाक्टर नहीं है। ए.एन.एम. दुर्गावती का कहना है कि इससे कुछ मरीज़ों को भी परेशानी होती है क्योंकि ए.एन.एम. हर तरह की मदद नहीं कर सकती हैं। तारुन के अधीक्षक डाक्टर अन्सार अली का कहना है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर एक महिला डाक्टर का होना बहुत जरुरी होता है।
सी.एम.ओ. राकेश कुमार ने बताया कि महिला डाक्टर तो काफी संख्या में हैं। पूरे जिले में लगभग चालिस महिला डाक्टर हैं। लेकिन जो मरीज़ो को देखती हैं उनकी संख्या कम है। इनकी नियुक्ति राज्य सरकार की ओर से होनी है।