पेट पाले खा पलायन, ऊमें भी धोखाधड़ी

picc
रामकृपाल ओर ऊखी ओरत फूलारानी

जिला महोबा, ब्लाक कबरई, कस्बा कबरई। आदमी आपन परिवार पाले खा पलायन करन जात हें। ऊमें भी ठेकेदार मजदूरन को रूपइया नई देत हे। जीसे मजदूर आदमी आपन परिवार पाले खे लाने ओर न्याय पायें खे लाने प्रशासन के चक्कर लगाउत हे। इन्द्रा नगर मोहल्ला के रामकृपाल ने बताओ कि में गरीब आदमी मजदूरी करके परिवार पालत हों। मोई दो बिटिया शादी लायक हो गई हें। जीसे में आपन परिवार लेके दीपावली खा कबरई के पंकज ठेकेदार के साथे फतेहपुर जिला के बहुआ गांव में ईटा पाथे गओ हतो। मेंने ओते अपने परिवार के साथे आठ महीना ईटा पाथे को काम करो हे। जीमें मोई मजदूरी एक लाख पांच हजार रूपइया होत हे। जभे हमाये हिसाब को समय आओ तो पंकज हमाये रूपइया लेके बिना बताये भाग आओ। मेंने मालिक से रूपइया मांगे तो ऊने कहो कि रूपइया पंकज ठेकेदार ले गओ हे। हम मालिक से बिनती करके किराओ लेओ। आपन समान ओर परिवार लेके 9 जून 2014 खा कबरई आओ हों। जभे में पंकज के एते रूपइया मंगाउन गओ तो ऊ मोये गाली देन लगो, ओर कहन लगो कि तोये जा कछू करने होय तो कर ले में रूपइया न देहांे। एई से मेंने 16 जून 2014 खा कबरई थाने में रिपोर्ट करी हे, पे कोनऊ सुनवाई नई भई हे। एई से मेंने लखनऊ मुख्यमंत्री ओर बांदा कमिश्नर के एते रजिस्ट्री भेजी हे। पंकज ने कहो कि में ठेकेदार नई रहो हों में पेहले से घरे चले आओ हो। मोये रामकृपाल खा पांच हजार रूपइया देने हे। रामकृपाल एक लाख पांच हजार रूपइया का झूठो आरोप लगाउत हे। कबरई थाने के एस.ओ. रामकेवल पटेल ने कहो कि मेंने दोनऊ पक्ष खा बुला के समझौता करा के भट्ठन मालिक के एते भेज दओ हे ओतई से समझौता होहे।