पिछड़ा गांव बन गया बैंक

unnaoजिला उन्नाव, ब्लाक हसनगंज, गांव डौंडिया खेड़ा। सालों से पिछड़े गांव डौंडिया खेड़ा में बक्श सिंह के किले के सोने की वजह से एक हफ्ते में विकास होने लगा। हालांकि अब पता लग गया है कि वहां सोना नहीं है।
उन्नाव की निवासी सोनम ने बताया कि जब से पास में बने किले में सोना पाने के लिए खुदाई शुरू हुई उसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आ रहे हंै। इस कारण वहां मेले जैसा माहौल हो गया है और सामान बहुत महंगा मिल रहा है। उन्नाव में फल बेचने वाले सुरेश ने बताया कि पहले हम ठेला भर कर फल लेकर आते थे तो हफ्ते में भी पूरा नहीं बिक पाता था। लेकिन आज कल रोज़ फल लेकर आते हैं पर फिर भी कम पड़ जाते हैं। इस समय सोना निकले चाहे ना निकले गांव वाले सोना कमा रहे हैं। जो दूध 20 रुपये में बिकता था वो 45 रुपये लीटर बिक रहा है। टैक्सी चालक विनोद ने बताया कि डौंडिया खेड़ा में हज़ारों पुलिसकर्मी लगी है। पांच किलोमीटर गांव के बाहर ही से लोग आकर चले जाते हैं क्योंकि अन्दर जाने नहीं दिया जा रहा है जैसे गांव ना हो कोई बैंक हो।