पास एक लाख, मिलल पचीस हजार

जिला सीतामढ़ी प्रखंड बथनाहा, गांव लक्ष्मीपुर इहां के रामपरी देवी लगभग आठ नौ महिना पहिले कल्यान विभाग से एक लाख के लोन पास हो के इलाहाबाद बैक में आएल हई। लेकिन बैंक उनका पचीस हजार ही देलई।
इहां के रामपरी देवी कहलथीन कि हम त दु साल पहिले आवेदन प्रखंड में देले रही इहां से आवेदन जिला कल्याण विभाग में चल गेल तब हम दु साल से प्रखण्ड अउर जिला में दउड़इत-दउरइत तब हमर लोन पास हो गेल । इलाहाबाद बैंक में रूपईया एक लाख पास होके आएल। लेकिन हमरा मा़त्र पचीस हजार रूपईया बैंक देलक। त हमरा डर है कि कही एक लाख रूपईया सधावे न पड़े।
इलाहाबाद बैंक के मैनेजर अमिर बहाब कहलथिन कि जिला कल्याण विभाग एक लाख या पांच लाख पास करके भेजे लेकिन लोन देबे के काम बैंक करई छई। अगर उनका पचीस हजार रूपईया लोन मिलल हई त उनका चैदह हजार रूपईया ही पांच साल में सधावे के हई। जिनका नाम से लोन हई उनका घर जमीन बैंक बैलेंस अउर सम्पति के जांच कर के ओही के अनुसार बैंक लोन देई छथिन।
जिला कल्याण विभाग के नाजिर कहलथिन कि हमर काम लोन पास करके बैंक के देवे के हई। अब बैंक के काम हई कि कतेक राशि देबे के हई।