पानी खातिर हिंया हुवां फिरत

 पानी का हवै इंतजार
पानी का हवै इंतजार

जिला चित्रकूट, ब्लाक पहाड़ी, गांव प्रसिद्धपुर। हिंया के दलित बस्ती का हैण्डपम्प दुइ बरस से खराब परा हवै। या कारन बीस घर के मड़ई दूसर बस्ती से सड़क पार कइ के पानी लावत हवै। या कारन समस्या होत हवै।
ऊषा अउर ममता का कहब हवै कि हैण्डपम्प का बिगड़े लगभग दुइ बरस होइगें। अबै तक प्रधान हैण्डपम्प नहीं बनवावत आय। यहै से पानी के बहुतै समस्या होत हवै। सड़क पार कइ के दूसर बस्ती से पानी लइत हन। यहै से पानी भरैं खातिर लाइन भी लगावै का परत हवै। हैण्डपम्प बनवावैं खातिर कइयौ दरकी प्रधान सुरेश से कहा गा, पै यहिके बारे मा वा एकौ नहीं सोचत आय। हैण्डपम्प बन जात तौ या समस्या से छुटकारा मिल जात।
प्रधान सुरेश का कहब हवै कि हैण्डपम्प रिबोर मा एक बरस पहिले दीन गे रहै। अब छह हैण्डपम्प पास भी होइगे तौ लगवा दीन जइहैं।
ब्लाक कर्वी, गांव सेमरिया चरणदासी। हिंया रोड के किनारे का हैण्डपम्प तीन महीना से खरीाब हवै। यहै से सौ घर के मड़ई सड़क पार कइ के पानी लावत हवै   यहै से सैकड़न दरकी प्रधान देवराज कोटार्य से कहा गा, पै वा कउनौ ध्यान नहीं देत आय।
हिंया के रानी, अशोक समेत दस लोगन का कहब हवै कि पानी के समस्या तौ हवै। रोड पार कइके पानी भरै मा डेर भी बना रहत हवै कि कत्तौ रोड पार करैं मा एक्सीडेंट न होइ जाये। काहे से कि छोट छोट बच्चा भी साथै रहत हवंै। उनका का पता उंई तौ पानी लें पहुंच जात हवैं। अगर हैण्डपम्प बनवा दीन जात तौ कुछौ नींक होत।
प्रधान देवराज कोटार्य का कहब हवै कि वा हैण्डपम्प का कइयौ दरकी बनवा दीन गा हवै। हर दरकी खराब होइ जात हवै। अब वहिका रिबोर मा दइ दीन गा हवै।
ब्लाक मऊ, गांव गाहुर, मजरा आजाद पुरवा। हिंया के कुंआ के पानी मा दुइ महीना से किरवा निकरत हवै। या बात का लइके प्रधान मौजी लाल से बात कीन गे। वहिकर कहब हवै कि कुंआ  का पानी कउनौ नहीं पियत आय।
आजाद पुरवा के गुडि़या अउर अरूणा समेत दस लोगन का कहब हवै कि दुइ महीना से पानी गन्दा आवत हवै। या कारन बालवाड़ी केन्द्र से पानी भरित हन। यहिके पहिले नींक पानी निकरत रहै अउर मड़ई पानी पियत रहै। कुंआ मा ब्लीचिंग पाउडर पर जात तौ नींक होइ जात, पै प्रधान न आशा बहू कउनौ या समस्या का ध्यान नहीं देत आय।
आशा बहू ममता कहिस कि कुआं मा दवाई डारैं गे रहै । मड़ई दवाई नहीं डारै दिहिन। कहिन कि कुंआ मा दवाई न डारौ यहै से दवाई नहीं डारे हवै