पांच सौ मड़ई अंधियारे मा

   महरजा पुरवा के लोग
महरजा पुरवा के लोग

चित्रकूट जिला, मऊ, गांव बोझ, मजरा महरजा मा देश का आजाद होय के बादौ बिजली नहीं लाग हवै। बिजली लगवावै। खातिर मऊ बिजली विभाग मा 9 मई का कहा गा पै अबै तक बिजली नहीं लाग।
पुरवा के पुष्पा, सूरजकली अउर रजनी का कहब हवै कि पुरवा मा बिजली न लाग होय के कारन मोबाइल चार्ज करवावैं खातिर बरगढ़ कस्बा जाये का परत हवै। यहिसे आवै जाये का परत हवै। या कारन आवै जाये मा दस रूपिया किराया लाग जात हवै। अगर बच्चन के शादी करित हन तौ। किराये का जनरेटर मंगावै का परत हवै।
शान्ती का कहब हवै कि बिजली न होय के कारन बच्चन के पढ़ाई नींक से नहीं होइ पावत। सरकार कहत हवै कि हर बच्चा पढ़ै आगे बढ़ै। अगर बिजली लाग जाये तौ बच्चन के पढ़ाई नींक से होइ।
मऊ बिजली विभाग के लाइनमैन अवधेश सिंह कहिन कि कुल पच्चीस मजरन मा बिजली नहीं लाग हवै। कुछ गांव राजीव गांधी योजना के तहत हवै। महरजा मा बिजली लगाई जई।
ब्लाक कर्वी, गांव गोंण्ड़ा, पुरवा कोरारी। हिंया भी लगभग सत्तर साल से बिजली नहीं लाग हवै। यहिसे दुइ सौ घर का मड़ई उजियारे का तरसत हवै। बिजली लगवावैं खातिर बिजली विभाग अउर प्रधान सुनीता पटेल से 6 मई का कहा गा, प्रधान का मनसवा राजकरन सिंह पटेल कहत रहै कि बिजली लगवावैं खातिर मुख्यमंत्री का 9 मई का फैक्स भेजा गा हवै। कर्वी बिजली विभाग के जेई राजेन्द्र कुमार राजपूत कहिन कि सरकार कइती से आदेश अई तबहिने पुरवा मा बिजली लाग सकत हवै।

रिपोर्टर – तबस्सुम और सुनीता देवी