परिवार वाले करिन आत्म हत्या करै का मजबूर

जिला चित्रकूट ब्लाक कर्वी, गांव सेमरिया। हिंया के मड़इन का आरोप हवै कि रश्मि का ससुराल वाले 25 मई का कमरे मा बंद कइके जान से मार डारिन अउर ताला लगा के भाग गें। रश्मि का मारै के बाद जेठ वहिके मइके मा फोन करिस कि वहिका कत्तौ पता नहीं आय कि कहां चली गे हवै। यहिके रपट मइके वाले कर्वी कोतवाली मा लिखाइन।
रश्मि का बाप लालबरन का कहब हवै कि आपने लड़की के शादी फरवरी 2016 मा कमल किशोर साथै कीने रहौं। दान दहेज मा कूलर, फ्रिज अउर वाशिंग मशीन सबै कुछ दीने रहौं। यहिके बादौ वहिके जेठानी अउर जेठ परेशान करत रहै 25 मई का तौ हद पार कइ दिहिन। उंई लड़की का कमरे मा बंद कइके मार डारिन। यहिके बाद दामाद कमल किशोर का परेशान करत रहै। यहिसे दामाद 26 मई का रेलगाड़ी से कट के आपन जान दइ दिहिस हवै। इनतान के आरोपी जेठ जेठानी का जल्दी जेल मा भेजै का चाही। मोर लड़की का बेकसूर जान से मार डारिन हवैं। अबै वहिके शादी का तीन महीना भे रहैं। अगर मोहिका पहिले से पता होत कि उंई इनतान से मोर लड़की साथै करिहैं तो मैं अपने लड़की का ससुराल न भेजतेंव।
कर्वी कोतवाली के मुंशी कालीदीन यादव का कहब हवै कि रश्मि के जेठ नारायण, देवर देव नारायण, भनेज रजनीश, मामा का लड़का गुड्डू, मामा नत्थू अउर वहिके मनसवा कमल किशोर समेत छह लोगन के खिलाफ रपट लिख लीन गे हवै। उनके खिलाफ 498( निराश राखब) 323(मारपीट) 304 बी ( दहेज खातिर हत्या करब) के धारा लाग हवै। या मामला के छानी बीन चलत हवै। यहिके बाद उनका जेल भेजा जई।
रश्मि के नंदोई से या मामला का लइक बात कीन गे तौ वहिकर कहब हवै कि उनके लड़ाई झगड़ा कसत भा हवै। यहिके बारे मा मोहिका कउनौ जानकारी नहीं आय।

रिपोर्टर – नाजनी रिजवी