पति के मउत के बाद ससुराल वाले मेहरारू का घर से निकारिन

mahila mudda copyजिला फैजाबाद, नाका, गांव उसरू। हिंआ रितू के ससुराल वाले मारत-पीटत थिन। अउर अब पति कै मउत के बाद ससुराल वाले घर से निकार दिहिन।
रितु बताइन कि हमार शादी 19 अप्रैल 2012 मा भै रहा। हमार ससुराल वाले पहिले मानत-जानत रहिन। हमार पति ट्रक चलावत रहे। हमका मानत नाय रहे। हमार पति हमरे ताई पायल अउर मंगलसूत्र बनवाये रहे। वही के ताई हमार सास अउर नन्द हमका 25 मार्च का मिलकै मारिन। सब जनै अउर घर से निकार दिहिन। हम अपने मायके मिल्कीपुर मा 2 महीने से बाटेन। हमरे पति कै 7 अप्रैल 2016 का मउत होई गै हमरे ससुराल वाले बताइन नाय। हमे दूसरे से पता चला कि हमरे पति कै मउत होईगा तौ हम अपने बिटिया के साथे आयन तौ हमका पति कै मुंह तक नाय देखै दिहिन। हमरे मायके वाले आय रहिन फिर भी केहूं का घर मा नाय आवै दिहिन। हमे शक बाय कि हमरे पति का जहर खवाय दियै बाटिन। तभौ इनकै मउत भै। हमरे एक बिटिया बाय जवन अबहीं तीन साल कै बाय वकर जिन्दगी कैसे बीते। हम मण्डी चैकी भी गै रहेन लकिन कउनौ सुनवाई नाय भै।
ससुरालवाले नन्द सीमा अउर मीना बताइन कि रितु हमरे सब कै कहा नाय मनतिन। अउर कउनौ काम नाय करतिन। हम घर से नाय भगायन अपने चली गइन। लकिन अगर ई घर मा रितु रहियै तौ हम अउर हमार परिवार ई घर छोड़ कै चला जाये। हमरे सब इनकै साथे न रहब।
सी.ओ. सिटी जवाहरलाल बताइन कि हम यकर जांच कइके ससुराल वालेे से हम बात करब। फिर कार्यवाही कीन जाये।