पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती

लक्ष्मी देवी जाटव
लक्ष्मी देवी जाटव

जिला चित्रकूट। कहते है कि मन में उमंग और लगन हो तो उम्र भी उसके बीच नहीं आती है। आइये आज हम मिलते है चित्रकूट जिला मऊ कस्बा सब्जी मण्डी की 90 साल की लक्ष्मी देवी जाटव से। कहने को तो 90 साल की है पर पढ़ने की ललक आज भी मन में बनी रहती है। लक्ष्मी देवी बचपन में स्कूल नहीं गई पर पति के राज में उनको इतना पढ़ाया है कि आज वह सब कुछ पढ़ और लिख लेती हैं। जो शब्द वह लिखती हैं वह बी.ए., एम.ए. पास वाले भी नहीं लिख पाते हैं। अब उन्होंने ठाना है कि उनको अंग्रेजी के शब्द याद करना है और लिखने का शौक लगा है। सुबह होते ही आंगन में कुर्सी मेज लगा कर काॅपी कलम ले कर ए, बी, सी, डी और उनके अर्थ लिखती रहती हैं। उनकी यह लगन देख मुझे बहुत खुशी होती है कि इस उम्र में भी पढ़ाई के लिए इतनी लगन है आज भी। सच में हम किसी भी उम्र में कुछ भी कर सकते हैं बस लगन होनी चाहिए।