पचास हजार लाओ तब घर लायेंगे

imagesजिला लखनऊ, ब्लाक काकोरी, गांव जेवइया। जेवइया गांव की रहने वाली आरती नाम की औरत जिसकी शादी पन्द्रह साल पहले मोहित नाम के लड़के के साथ हुई थी। जो अब पचास हजार की मांग कर रहे हैं।
आरती ने बताया मेरी शादी को पन्द्रह साल हो गये हैं मेरी कोई औलाद ही नहीं है। इसलिए अब मेरे ससुराल वाले हमको ससुराल नहीं आने देते। कहते हैं पहले अपने मायके से पचास हजार लेकर आओ तभी रखेंगे।
आरती की मां फूलदेवी का कहना है कि हमारा आदमी रिक्शा चलाता है। हम कहां से उन्हें पचास हजार देंगें। हमारी औकात ही नहीं है। आरती के पिता जग्गू का मानना है कि बेटी के बच्चा ना होने की वजह से ससुराल वाले मांग कर रहे हैं। हमारी जितनी औकात थी आरती की शादी की। अब हम उनकी ये मांग पूरी नहीं कर सकते क्योंकि हमारे अभी तीन बेटियां हैं। बेटे हैं नही हम अकेले कमाने वाले है।
पति मोहित का कहना है हमें पता है मेरे ससुराल वाले गरीब हैं। लेकिन हमने सिर्फ पचास हजार मांगे है वो भी उधार बाद में हम वापस कर देते।