पकड़े गे आरोपी

डी.एम. आफिस मा शब्बीर का परिवार
डी.एम. आफिस मा शब्बीर का परिवार

शहर बांदा, मोहल्ला अलीगंज खूंटी चैराहा। हेंया के शब्बीर के अपहरण का मामला दिनै दिन गरमात जात है। पुलिस तीन जने का पकड़ लिहिस है। बाकी का पकड़ै के कोशिश मा लाग है। नेता मंत्री कारवाही का भरोसा दिहिन।
शब्बीर के मेहरिया नाजिया बतावत है-“27 मई 2013 के रात 9 बजे जितेन्द्र शर्मा, शेखर शर्मा अउर दिनेश शर्मा (दिन्ना) मोर मनसवा का अपहरण करवाइन हैं। इं लोग कल्लन नाम के मनसवा का ढाई लाख के सुपारी दिहिन रहैं। 27 मई 2013 का कल्लन मोर मनसवा का इलहाबाद जाये के बहाना से लेवा गा रहै। एक दिन बीत गा पै वा घरै नहीं आवा तबै हम शब्बीर का फोन लगावा तौ मोबाइल बंद बतावत रहै। तबै हम 29 मई 2013 का कोतवाली मा रपट लिखावा। 1 जून 2013 का डी.एम. अउर एस.पी. का भी दरखास दीन अउर 3 जून से अशोक लाट तरे अनशन भी शुरू कई दीन।”
नाजिया या भी बताइस-“मोर मनसवा के इनसे पुरान दुश्मनी रहै। काहे से कुछ साल पहिले कल्लू का मोर मनसवा जितेन्द्र लोगन से दस हजार रूपिया देवाइस रहै। कल्लू कुछ दिन बाद ब्याज समेत सोलह हजार रूपिया लउटा दिहिस पै इं चालिस हजार रूपिया अउर मांगत रहैं। यतना रूपिया न दई पावैं मा कल्लू के घर मा कब्जा कई लिहिन अउर कल्लू का जान से मार दिहिन। अब कल्लू के न रहैं मा मोरे मनसवा से चालिस हजार के अस्सी हजार रूपिया मांगत रहैं। रूपिया न दें मा मोर मनसवा के साथै इनतान करिन हैं।”
अपर पुलिस अधीक्षक स्वामी प्रसाद कहिन-“या मामला के मुख्य आरोपी जितेन्द्र अउर शाबिर का गिरफ्तार कई लीन गा है। मोबीन का भी पकड़ लीन गा है जउन आरोपी फरार हैं उनका जल्दी पकड़ा जई। या घटना मा जितेन्द्र कल्लन का सुपारी दिहिस रहै। पचास हजार रूपिया भी दई दिहिस रहै। कल्लन भी फरार है।” खबर लिखे जाय तक यतनी ही कारवाही भे रहै।