नेपाल और भारत में फिर भूकंप

काठमांडू और नई दिल्ली। नेपाल और भारत के कई हिस्सों में एक बार फिर भूकंप के तेज झटके महसूस हुए। नेपाल में सत्तर लोग और भारत में सत्रह लोगों की मौत हो गई।
भारत में पिछली बार की तरह इस बार भी उत्तर प्रदेश और बिहार में ही भूकंप का असर दिखा। मरने वाले सभी लोग इन्हीं दोनों राज्यों के हैं। नेपाल और भारत में मिलाकर करीब दो हज़ार लोग घायल हो गए। इससे पहले 25 अप्रैल को भूकंप आया था। इसमें आठ हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हुई थी। इस भूकंप की तीव्रता 7.4 नापी गई। जबकि इससे पहले आए भूकंप की तीव्रता 7.9 थी। भूकंप के झटके दिल्ली, पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश, बिहार और झारखंड में महसूस किए गए। दिल्ली में मेट्रो सेवा को भी कुछ देर के लिए रोकना पड़ा। नेपाल में भूकंप के बाद इस देश के एकमात्र त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को कुछ देर के लिए बंद कर दिया गया। नेपाल के स्कूलों और दफ्तरों समेत भारत के भी कई स्कूल एक दिन के लिए बंद कर दिए गए। नेपाल की दोलाखा और सिंधुपाल चैक जिलों पर इस बार भी भूकंप का सबसे ज़्यादा असर पड़ा।