नीरव मोदी ने पासपोर्ट निरस्त होने के बाद भी की कई देशों की यात्रा

साभार: फ्लिकर

सीबीआई ने कहा है  कि फरार हीरा कारोबारी नीरव मोदी का पासपोर्ट भारत सरकार द्वारा निरस्त किए जाने की जानकारी 24 फरवरी को इंटरपोल केन्द्रीय डेटाबेस में दिखने के बावजूद नीरव कई देशों की यात्रा करने में कामयाब रहा।

एजेंसी ने कहा कि उसने 15 फरवरी को इंटरपोल के जरिये जारी एक नोटिस में नीरव का पासपोर्ट निरस्त होने की जानकारी साझा की थी।

इंटरपोल को भेजे पत्र में सीबीआई ने नीरव मोदी को सरकार द्वारा जारी पांचों पासपोर्ट की जानकारी दी। ये पासपोर्ट एक दूसरे से लिंक हैं लेकिन नवीनीकरण या बुकलेट भर जाने के कारण उनकी संख्या बदल गई है।

सूत्रों ने कहा कि इंटरपोल केन्द्रीय डेटाबेस में सूचना दिखने के बाद ब्रिटेन द्वारा साझा जानकारी के अनुसार, नीरव मोदी 15 मार्च को लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे से हांगकांग, 28 मार्च को न्यूयार्क के जेएफके हवाई अड्डे से हीथ्रो और 31 मार्च को हीथ्रो से चार्ल्स डि गॉले, पेरिस गया।

प्राप्त सूचना के अनुसार इंटरपोल के जरिये सीबीआई द्वारा जारी नोटिस के जवाब में सूचना उपलब्ध कराई गई।

सूत्रों ने कहा कि डेटाबेस में अपडेट होने के बाद संदिग्ध की गतिविधि के बारे में सूचना साझा करना सदस्य देश के ऊपर है और एजेंसी उनसे जानकारी साझा करने का केवल आग्रह कर सकती है।

सूत्रों ने कहा कि एजेंसी के पास नीरव मोदी के बारे में कोई विश्वसनीय सूचना नहीं है। उन्होंने कहा कि सीबीआई के आग्रह पर इंटरपोल द्वारा यह नोटिस जारी किया गया और एजेंसी ने उन छह देशों से संपर्क किया जहां नीरव के भागने की आशंका थी।