नहीं बने राशन कार्ड

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव खिचरी। हिंया के कल्ली अउर सोना तीस बरस से राशन कार्ड जाब कार्ड न बनै से परेशान हवंै। या से मजूरी अउर न तौ गल्ला मिलत आय।
हिंया के कल्ली अउर सोना बताइन कि दुइ पचंवर्षीय बीत गं,े पै अबै तक राशन कार्ड अउर जाब कार्ड नहीं बना आय। हमरे जाति के प्रधान हवै, पै कउनौ ध्यान नहीं देत हवै। एकौ बिगहा खेत नहीं आय कि वहै से खाना खर्चा चलै लागै। रोजै मजूरी करित हन तौ पेट रोटी चलत हवै। अगर राशन कार्ड बन जाये तो कुछौ गेहूं चावल का सहारा होइ जाय। प्रधान से कइयौ दरकी कहे हन, पै नहीं सुनत आय।
प्रधान नन्दलाल का कहब हवै कि अबै छह महीना के बाद राशन कार्ड बनिहैं। अबै सर्वे होत हवै। जबै बनिहैं तौ बनवा दीन जइहैं।