नहर मा उड़त धूर

taza1 finalजिला अम्बेडकर नगर, ब्लाक कटेहरी। षारदा सहायता नहर मा पानी के जगह धूल उड़त बाय। लगभग सैकड़न गांव कै किसान पिपरमिन्ट अउर उड़द जैसे फसल कै सिंचाई नाय कै पावत अहैं।
षारदा सहायक नहर लगभग दुई महीना से सुखान पड़ा बाय। किसान राम बहादुर पटेल बताइन कि सैकड़न गंाव एैसन बाय जवन यहि नहर के सिंचाई कै सहारा रहाथै। जेसे आतमपुर बजदहा, खोरिया बुझावन तिवारी कै पूरा, बलिनवां सारंग सब गंाव नहर के किनारे बसा बाय। सबकै फसल सींचै बिना खराब हुवत बाय।
आतमपुर कै किसान आषाराम अउर जोखूराम बताइन कि मौसम कै मार  किसान पहिले ही झेल चुका हइन। अब पिपरमिन्ट उरद बजरी कै खेती कीन गै बाय। नहर से सिंचाई करै पै सस्ता पराथै। गेहूं के कटाई के बाद लगभग एक चैथाई खेती पिपरमिन्ट अउर उड़द कै कीन जाथै। नहर के सिंचाई से किसान का कम धन खर्च करै का पराथै। पैदावार अच्छी हुआथै। कम समय मा पिपरमिन्ट कै फसल तैयार होय जाथै। धान बैठावै कै खर्च पिपरमिन्ट के तेल से निकर जाथै। लकिन हिंआ तौ नहर मा पानी के जगह धूल उड़त बाय। कवन मेर फसल अच्छी होये।
नहर विभाग कै अवर अभियन्ता आलोक सिन्हा बताइन कि नहर कै सफाई हुवय के कारण यहि समय नहर मा पानी नाय बाय। यइसे हर साल हुआथै। जहां से नहर मा पानी आवाथै वहीं के पानी कै सप्लाई बन्द कराय दीन जाथै। जेसे नहर सफाई मा दिक्कत न हुवय। महीना के अन्तिम सप्ताह तक पानी आवै कै सम्भावना बाय।