नई बनो नाला, घर गिरे को डर

घास के कारन नाला को नइयां
घास के कारन नाला को नइयां

जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव सूपा। जा गांव लोहीया होंय के बाद भी एते होरीडारा में बनो पीढि़यन को नाला हर साल आदमियन के घर गिरा देत हे। जीसे आदमी पक्का नाला बनवाये की मांग करत हे।
एते के रामभरोसी प्रजापति कहत हे कि जा नाला पुराने ओरेन्टीयल बैंक से अर्जुन नदी तक लगभग दो सौ मीटर नाला कच्चा बनो। ई नाला से हमाओ दस-बीस हजार को नुक्सान हो जात हे। अगस्त 2014 में ई नाला से हमाये जानवरन को घर गिर गओ हे। लेखपाल भी आओ हतो, पे कछू नई मिलो हे। कालका प्रसाद, चन्द्रभान ओर सुखदेव ने बताओ कि पूरे गांव को पानी एई से निकरत हे। जभे खुली मींटिग होत हे तो हमने कहो हतो, पे कोनऊ ध्यान नई देत हे। मदनपाल कहत हे कि ई नाला में हर साल माटी अपने से डरवाउत हे। नई तो पानी के कारन पूरी माटी बह जात हे ओर घर गिर जात हे। प्रधान कौशल बताउत हे की गांव नाम खे लोहीया चुनो गओ हे, पे कोनऊ काम नई भओ हे। हमने केऊ दइयां प्रस्ताव बना के भेजो हे बजट नई आउत हे।
सी.डी.ओ. शिवनारायण कहत हे की प्रधान झूठ बोलत हे। ऊ गांव मे हर तरह की सुविधा भेजी गई हे। नाला के बारे में हमें कोनऊ जानकारी नइयां।