धोखा से लिखाय लिहिन जमीन

taza final 2जिला अम्बेडकर नगर, ब्लाक कटेहरी, गांव खेमापुर। यहि गांव मा चिरकुट जे दुइनौ आंख कै अन्धा अहैं। उनकै घर गांव कै प्रधान अउर एक ठाकुर आर्थिक लाभ देवावै के बहाना घर बैनामा करवाय लिहिन।
चिरकुट बताइन कि प्रधान राधेष्याम चैहान अउर मुकेष सिंह आइन कहिन कि चला तुहका आर्थिक लाभ देवाई सरकार के तरफ से एक लाख रुपया विकलांग खातिर अनुदान आय बाय। इहै कहिके लै गईन भीटी तहसील हमका एक जगह बैठाय दिहिन। दुइनौ जने कागज लाइन कहिन यही पै अंगूठा लगाय दिया। तौ हम कहेन कि यमहा काव लिखा बाय पहले पढि़के सुनाय दिया। तौ प्रधान राधेष्याम कहिन कि काव पढि़के सुनाई तोहरे फायदे कै चीज हुवय का हम प्रधान होइके तोहरे साथे धोखा करब। प्रभावती पति सत्यनरायण के नाम बैनामा कराईके अंगूठा लगवाय लिहिन। कहिन कि चार महीना बाद एक लाख रुपया मिले।
जब चार महीना बीता तौ प्रधान से पूछेन कि पइसवा कहिया आये तौ प्रधान कहिन कि घबरा न मिल जाये। जब चार महीना बाद प्रभावती हमरे छत के ऊपर गोबर पाथै आईन तौ हम कहेन कि हमरे छत पै गोबर न पाथा तब कहिन केस तोहार छत इतौ हमरे नाम बैनामा भै बाय। तब हमका जानकारी मिला तौ हम पूरे गांव मा घरे घरे जाइके सबके सामने रोवै लागेन। गांव वाले हमका लियायके अहिरौली थाना गइन। हुंआ रिपोर्ट लिखाइन।
रामनिहाल बताइन कि पांच जने के ऊपर मुकदमा दर्ज बाय। मुकदमा अपराध संख्या 51/2013 धारा 419,420,467,468,471 आई.पी.सी धारा लाग बाय। अबही कउनौ कार्यवाही नाय होत बाय।