द्रविड़ जूनियर पर पड़ी सबकी नजर!

juniordravidसाधारण सी बात है कि कोई भी दस साल का लड़का क्रिकेट या फुटबॉल में से किसी एक में रूचि जरुर रखता है। इन बच्चों में से एक बच्चा यह भी है जो सोते, जागते बस क्रिकेट के बारे में ही सोचता है। लेकिन यह लड़का इतना साधारण भी नहीं है!

मिलिए, राहुल द्रविड़ के दस साल के बेटे, समित द्रविड़ से। समित कद में छोटे हैं, चश्मा भी पहनते हैं लेकिन इनकी बल्लेबाजी जबरदस्त है। अपने नाम के कारण वह काफी मशहूर तो हो गये है लेकिन उससे भी ज्यादा वह अपने रनों की बौछार के कारण जाने जा रहे हैं।
राहुल द्रविड़ उन क्रिकेट हस्तियों में से हैं जो अपने निजी जीवन के बारे में ज्यादा बात नहीं करते। अगर उनका नाम अखबारों में आया है तो उनके क्रिकेट की प्रतिभा के कारण। लेकिन राहुल द्रविढ़ अब क्या करेंगे? उनका बेटा समित, अपनी छोटी सी उम्र में ही शानदार बल्लेबाजी कर खबरों में छाया हुआ है।
rahuldravid copyगौरतलब है कि क्रिकेट, द्रविड़ परिवार के खून में बसा हुआ है। समित के साथ-साथ राहुल द्रविड़ का दूसरा बेटा अन्वय में भी एक अच्छे बल्लेबाज के लक्षण दिखाई देते हैं। समित द्रविड़ शायद कभी अर्जुन तेंदुलकर की तरह एक सामान्य बच्चे की जिन्दगी नहीं जी पाएंगे। इस बात को सचिन तेंदुलकर ने स्वीकार कर लिया है, अब राहुल द्रविड़ को भी करना होगा है।
समित सिर्फ दस साल के हैं लेकिन वह अपने से बड़ी उम्र के बच्चों के विपक्ष में खेलते हैं। पिछले हफ्ते ही उन्होंने एक सौ पचीस रन बनाये, जिसमें बाईस चैके थे और एक छक्का। समित का ऐसा अद्भुत प्रदर्शन पहला नहीं है, वह अक्सर ऐसी चैंका देने वाली बल्लेबाजी करते है।
श्रीलंका के स्टार मुत्तायाह मुरलिथारण ने समित द्रविड़ की बल्लेबाजी में राहुल द्रविड़ की झलक देखी है। यही बात अगर कोई राहुल से पूछे तो वह इस बात को मानते नहीं लेकिन नकारते भी नहीं हैं। उनका कहना है कि समित का हाथ और आँखों के बीच का समन्वय अच्छा है और वह हर गेंद को उछाल देता है। राहुल की समित से यही उम्मीद है कि वह हर गेंद को बाउंड्री तक पहुंचता चला जाए।

साभार विसडेन इंडिया