दूसरे के घर मा करत गुजारा

जिला फैजाबाद, ब्लाक हैरिग्ंटीनगंज, गा्रमसभा भिटारी, गांव कलवरिया। यहिंकै रामावती विश्वकर्मा दुई साल से दुसरे के घरमा रहाथिन। लकिन उनका आवास नाय मिला।

रामावती अउर उनकै पति रमेश कुमार बताइन कि प्रधान कहाथिन कि सूची मा नाम नाय बाय जबकि हमार अन्तोदय कार्ड बना बाय। दुई साल भै सर्वे कइके लै गइन अबहीं तक कउनौ पता नाय बाय। 26 जनवरी का ब्लाक प्रमुख से कहेन तौ उनहूं अनसुनी कै दिहिन। जब भी मीटिंग हुआथै या तहसील दिवस हर बार कहीथी लकिन कउनौ सुनवाई नाय हुवत। हमरे पास न आमदनी बाय न खेती कि वही से घर बनुवाय ली। मजदूरी कइके चार बिटिया एक बेटवा कै कउनौ तरह पेट पालत हई।

प्रधान शंकर यादव बताइन कि समाजवादी पेंशन बनवाय देहे हई। अउर आवास कै मांग करे हई।