दूसरे से करावाथिन काम

01-07-15 Taarun - Tikri Upkendra webजिला फैजाबाद, ब्लाक तारुन, गांव टिकरी। हिंआ कै आशा कार्यकत्री नीलम सिंह का आशा कार्यकत्री कै काम मिला बाय। घर घर जायके किशोरी अउर गर्भवती का जानकारी दियै। लकिन यै काम करै नाय जातिन।

आशा कार्यकत्री नीलम सिंह बताइन कि नौ साल होइगा न पैसा मिलै न कउनौ वेतन निर्धारित बाय। कवन मेर काम करै। इनकै कहब बाय कि यै फील्ड नाय जातिन काहे से यै ठाकुर हुंवय। गांव के एक दलित जाति कै आशा कार्यकत्री शीला देवी बाटिन उनसे काम करावाथिन। यै बताइन गांव यकै हुवय अउर शीला देवी लिखै नाय जनतिन तौ वै फील्ड मा काम कराथिन अउर यै घर बैठे रजिस्टर तैयार कै दियाथिन। जब कभौ कउनौ अधिकारी आवाथै या मीटिंग हुआथै तबै जाथिन।

आशा कार्यकत्री शीला देवी बताइन कि टिकरी दुई हजार कै आबादी बाय। जेसे एक एक हजार कै आबादी मा एकै जगह दुइनौं जनी काम करीथी। जब टीकाकरण हुआथै या कउनौ अधिकारी आवाथिन तौ वै जाथिन। अपने घर कै अकेल बाटिन यही से नाय जाय पउतिन।

इनकै कहब बाय कि स्वास्थ्य केन्द्र डिलेवरी प्वांइट घोषित भै बाय। सफाई कर्मी न आवै से काफी गन्दा बाय। सफाई कर्मी कभौ गांव मा नाय अउते। गांव के एक मेहरारू का सफाई करै का कहे अहैं। वै सिर्फ स्कूल कै सफाई कराथिन। कहाथिन सफाईकर्मी स्वास्थ्य केन्द्र साफ करै का कहिहैं तौ साफ करब।

अधीक्षक वेद प्रकाश त्रिपाठी बताइन कि एक दूसरे कै काम केहू नाय कै सकत। अगर एक क्षेत्र बाय अउर वै काम नाय करै जातिन तौ उनकै क्षेत्र बांट दिया जाये।