दुर्घटना का देत न्यौता

या हाल रपटा का
या हाल रपटा का

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव ऊंचाडीह । हिंया से मऊ गुरदरी गांव तक बरदहा नदी मा ऊंचा रपटा नहीं बना आय। इं गांवन के रास्ता मा बरदहा नदी हवै। या कारन कइयौ गांव के सैकड़न मड़ई परेशान  हवै। काहे से कि बरसात मा पानी भर जात हवै।
ऊंचाडीह के मुन्नी, रामकली, प्रधान प्रवीण सिंह मऊ गुरदरी गांव के देशराज, मोहन अउर चमरौहां गांव के सुरतिया अउर फूलन का कहब हवै कि बरदहा नदी मा ऊंचा रपटा बनै का चाही। बरसात मा बाढ़ आ जात हवै तौ निकरै के समस्या होत हवै। ऊंचा रपटा बनावै खातिर मानिकपुर विधायक चन्द्रभान सिंह पटेल से एक महीना पहिले कहे रहेन, पै ध्यान नहीं दीनगा।
मानिकपुर विधायक चन्द्रभान सिंह पटेल का कहब हवै कि लखनऊ मा सरकार का लिखित भेजे हौं। पास होइ तौ रपटा बनी।
सड़क के दूसर समस्या चित्रकूट जिला, कर्वी अउर राजापुर मा हवै। हिंया कर्वी से राजापुर तक लगभग तीस किलो मीटर सड़क खराब हवै। या समस्या तीन बरस से हवै। यहै से रोज का हजारन मड़ई परेशान हवै। सड़क बनावै खातिर कइयौ दरकी पी.डब्लू.डी विभाग मा कहा गा, पै कउनौ ध्यान नहीं दीन गा। पहाड़ी ब्लाक के कल्लू, राजेश पाण्डेय अउर लाल इं जीप अउर बस चलावै वाले हवंै। उनकर कहब हवै-” सवारी हमरे साधन मा बइठैं से डेरात हवै। सोचत हवै कि कत्तौ साधन न पलट जाये। सरकार नींकतान से सड़क नहीं बनवावत आय।”
पी.डब्लू.डी विभाग के सहायक अभियन्ता हंसाराम कहिन कि अबै सरकार कइती से बजट नहीं आवा आय। बजट आ जई तौ सड़क बनी।