दुई जने के बीच श्री बेेचैं के धन्धा का लइके लड़ाई

banda ansan 3
प्रेमनारायण बइठ अनशन मा

हमीरपुर जिला के मौदहा कस्बा का रहै वाला पे्रमनारायण तीन महीना से बांदा कचेहरी मा श्री पान के दुकान कइके आपन पेट पालत है। अब कचेहरी के अन्दर चाय के दुकान करंै वाला सगीर वहिका दुकान नहीं लगावैं देत। वा अनशन करे हैं।
पे्रमनारायण बतावत है कि मैं अगर कचेहरी मा दुकान लगा के बइठत हौं तौ सगीर मोर सामान उठा के फेंक देत है। यहिके मारे मैं गरीब मड़ई कल मा धन्धा कइके पेट नहीं चलावैं पावत आहंू। या मारै मैं 23 अगस्त 2013 से अशोक लाट चैराहा मा अनशन करे हौं। जबै तक मोहिका नियाव न मिली मैं हेंया से न जइहौं।
सगीर कहत है कि प्रेमनारायण का श्री पान बेंचैं खातिर मना नहीं कीन गा आय। हम तौ कहत हन कि तुलसी अउर प्रेमनारायण दूनौ जने मिल के धन्धा करें तौ प्रेमनारायण कहत है कि अगर तुलसी हेंया श्री पान बेंची तौ मैं अनशन करिहौं यहै मारे वा अनशन मा बइठ है।
बांदा कचेहरी के जिला महा अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष कमल सिंह दिखित अउर महा सचिव रजनीश मोहन श्रीवास्तव कहत हैं जउन गरीब मड़ई है तौ लड़ाई झगड़ा न करैं। अलग-अलग जघा आपन दुकान रख सकत है।