दहेज लोभी होत हैं ससुराल वाले

जानकी आपन मनसवा व लड़का के साथै
जानकी आपन मनसवा व लड़का के साथै

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, कस्बा अतर्रा, मोहल्ला सुभाष नगर। हेंया के जानकी का माइक हमीरपुर जिला का मौदहा आय। जानकी के ससुराल वाले दहेज न मिलै का बहाना कइके आय दिन मारपीट करत हैं। अगर मनसवा बचावत है तौ वहिका भी मारत हैं। 3 मई 2014 का जानकी के बचावै मा मनसवा का हाथ तक टूट गा हैं। पुलिस कउनौ कारवाही नहीं करत आय।
जानकी बतावत है-“मोर ससुराल वाले दहेज मा एक लाख रूपिया अउर मोटर साइकिल मांगत है। पता नहीं शादी के समय महतारी बाप से इनका का तय रहा है। अगर महतारी बाप का बुला के कहत हौं तौ उनके आगे कहत हैं हम न मारब। घर मा रहैं नहीं देत आय। 3 मई 2014 का मोहिका मारत रहै। मनसवा बचाइस है तौ वहिका मार के हाथ तोड़ दिहिन हैं।”
मनसवा अरविन्द कुमार कहत है कि मोर महतारी बाप मोहिसे मेहरिया का छोड़ै खातिर कहत है। मैं छोड़ै नहीं चाहत हौं। अगर महतारी बाप अउर भाई मारत हैं तौ बचावत हौं यहिसे मोहिका मारत है। यहिके पहिले जानकी के दुई दरकी करन्ट लगा चुके हैं। कहत हैं दहेेज नहीं लाई अउर बिटिया पैदा करिस है। अतर्रा थाना मा कइयौ दरखास दीन, पै पुलिस उल्टा हमरे ऊपर मुकदमा लिखिस है। अतर्रा थाना का थानाध्यक्ष पंकज तिवारी कहत है कि वा मामला दुई साल से चलत है। मेहरिया खुदै छत तोड़त है अउर दुकान मा पानी डालत है यहिके विवेचना छोट दरोगा करत हैं। जानकी का ससुर विजय कुमार कहत है कि वा मेहरिया हमका खुदै परेशान करे है। रोज लड़ाई करत है, हमका दोष देत है।