दहेज उत्पीड़न से तंग, मुकदमा अदालत मा करी

ganroti photo mahila mudda ed  copyजिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव गरौती। हेंया के शिवकुमारी का आरोप है कि वहिके शादी पन्द्रह साल पहिले यहै ब्लाक के गांव वासिलपुर मा सुखलाल से भे रहै, पै वा दहेज उत्पीड़न अउर मनसवा के मारपीट से तंग आ के पांच साल से मइके मा रही के मुकदमा लड़त है।
शिवकुमारी का कहब है कि सुसराल वाले शादी के मांग पूरी न होय से मारपट अउर गाली गलौज करत रहै, पै मैं आपन हिम्मत न हारंेव अउर ससुरल मा रही के उनके मीरपीट सहत रहेंव। मनसवा का पराये धन के लालच करैं के बात का लइके बहुतै समझायंेव। यहिनतान के स्थिति मा मोरे तीन लड़की भी होई गई, पै मनसवा के समझ मा मोर कउनौ बात न आई। वा पांच साल पहिले मार के हद पार कई दिहिस अउर घर से निकार दिहिस। मोर गरीब महतारी बाप वहिके दहेज के मांग पूर न कई पाइन। तबै से मैं मइके मा रहत हौं अउर ससुराल के खिलाफ अदालत मा मुकदमा दर्ज करव। जेहिका वकील न्याज खां है। अब अदालत फैसला करी।
मनसवा सुखलाल का कहब है कि वा खुद से मइके मा रहत है। हम कइयौ दरकी लेवावैं भी गे हन। अब तौ मुकदमा चलत है,पै दहेज के कउनौ मांग निहाय।
वकील न्याज खां का कहब है कि 125 खाना खर्चा का मुकदमा लाग है। फैसला अदालत के हाथ है। मैं पूर कोशिश करत हौं।

रिपोर्टर: शिवदेवी