दरबारी के कमरे से किले तक सुरंग

quilaquila-2चित्रकूट जिला, ब्लाक मऊ, क्षेत्र बरगढ़। यहां पर दो सौ साल पहले चंदेला वंश के राजा द्वारा बनवाया गया किला आसपास के इलाके में बहुत प्रसिद्ध है। बरगढ़ क्षेत्र में किले वाला इलाका किला चैराहा नाम से जाना जाता है। देखने में यह किला बहुत बड़ा और कुछ रहस्यमई दिखता है। किले से करीब तीन किलोमीटर दूर एक एक कमरा है जिसे मंडप कहते हैं। इस मंडप से एक सीधी सुरंग किले तक जाती है। माना जाता है कि यह कमरा राजा ने दरबारियों के लिए बनवाया था। दरबारियों को जब किले में पहुंचना होता था वह इसी रास्ते से जाते थे। यहां हर साल चित्रकूट जिले में खाने पीने की चीजों के लिए चर्चित मेला लगता है। इस मेले का आयोजन आदिवासी समुदाय द्वारा किया जाता है।