तेलंगाना मुद्दा बन रहा और हिंसात्मक

download (1)आंध्र प्रदेश। तेलंगाना के विरोध में चल रहे धरनों ने 6 अक्टूबर को हिंसात्मक मोड़ ले लिया। तटीय आंध्र प्रदेश के विशाखापटनम जिले में प्रदर्शन करने वालों ने पथराव किया और गाडि़यां जला दीं। पुलिस को इसे रोकने के लिए हिंसा का प्रयोग करना पड़ा।
आंध्र प्रदेश राज्य के एक हिस्से को अलग करके नया तेलंगाना राज्य बनाया जा रहा है। इस बंटवारे के खिलाफ आन्ध्र प्रदेश के कई नेता भी भूख हड़ताल और धरने पर बैठे हैं। 50 सालों से तेलंगाना को अलग करने की मांग चल रही है। सीमान्ध्र, (आंध्र प्रदेश का दक्षिण इलाका) के बिजली विभाग ने इस विभाजन के विरोध में पूरे विभाग को बंद कर दिया था। पूरा इलाका अंधेरे में डूबा हुआ था। रेल सेवाएं भी बंद थीं। कई राजनीतिक पार्टियों का मानना है कि ये कदम राजनीतिक लाभ के लिए उठाया गया है।