तेरह साल का लड़का पकडि़स जाली नोट

ओम कहिस कि वा पांच साल के उमर से दुकानदारी चलावत है। वा आपन पापा से नकली नोट के पहिचान करब सीखिस है।
ओम कहिस कि वा पांच साल के उमर से दुकानदारी चलावत है। वा आपन पापा से नकली नोट के पहिचान करब सीखिस है।

जिला बांदा, ब्लाक बबेरू, गांव मुरवल। 21 अप्रैल दिन 11 बजे तेरह साल का दुकानदार जाली नोट का फुटकर कराके दुकानदारन का ठगै वाले जालसाजन का पकड़ लिहिस। पुलिस फोन से सूचना पउतै जालसाजन का गिरफ्तार कई लिहिस। पुलिस के तलासी मा उनके पास पांच सौ नोट के अड़तालिस जाली नोटै मिली हैं।
मेवालाल कहिस है कि कपिल अउर पंकज अलग-अलग दुकानन मा जा के पांच सौ नोट मा सिगरेट खरीदत रहंै। कइयौ दुकानदार पांच सौ रूपिया का खुल्ला न होय के मारे सिगरेट नहीं दिहिन। दुकानदार रमन उनका पांच सौ के नोट मा सौ-सौ के पांच नोट दई दिहिस। धीरे-धीरे फूलचन्द्र, आलोक अउर रयूस के दुकान से बीस-बीस रूपिया के सउदा खरीद के चार पांच नोट चलावै मा कामयाब होइगे। जबै राजेश के दुकान सिगरेट लें गे तौ वहिकर तेरह साल का लड़का ओम दुकान मा रहै। कपिल ओम का पांच सौ का नोट पकड़ा के सिगरेट मांगिस। ओम नोट का नकली कहिके लउटावैं लाग तौ कपिल अउर पंकज ओम का मारै का दउरै। भीड़ इकट्ठा होइगे तौ उनके पोल खुल गे है।
बबेरू कोतवाली का मुंशी अमरेन्द्र प्रताप कहिन कि कपिल अउर पंकज के खिलाफ मुकदमा लिख गा है। मुकदमा मा नकली नोट भंजावैं के धारा 489 बी. अउर नकली नोट अपने पास रखैं के धारा 489 सी. लाग है।