तीन माह से तरसते बिजली के लिए

जिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव तेइया। पांच हजार आबादी वाला यह गांव तीन माह से बिजली के बिना गुजर बसर कर रहा है। बिजली विभाग के अधिकारी अपनी जिम्मदारी से पल्ला झाड़ रहे हैं।
गांव की गेंदारानी और हिरिया बताती हैं कि मई 2013 से गांव का ट्रांस्फारमर फुंका पड़ा है । बिना बिजली के रात में सो नहीं पाते हैं। आटा पिसाने दूसरे गांव जाना पड़ता है। लोगों ने 50-50 रूपये चन्दा करके दो हजार रूपये बिजली विभाग में जमा किए तब उन्होंने एक फुंका हुआ ट्रांसफार्मर लगाया। स्ंतोष और गोरेलाल बताते हैं कि जून में दूसरा ट्रांसफार्मर रखा गया, वह भी पहले से फुंका था। प्रधान अरून तिवारी का कहना है कि एक छोटे ट्रांसफार्मर से सब को बिजली नहीं मिल पा रही है। कई बार फोन किया है पर विभाग से कोई जवाब नहीं मिलता है।
महोबा बिजली विभाग के डी.जी.ओ. आर. पी. शाहू ने बताया कि तेइया गांव हमारे क्षेत्र में नहीं आता है। तेइया गंाव भी महोबा जिले का गांव है। फिर अधिकारी ऐसे जवाब दे कर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला क्यों झाड़ लेते हैं?