तीन धर्मों के लिए एक छत

church
ईसाइयों का धार्मिक स्थल चर्च

 

mosque
मुस्लिमों का धार्मिक स्थल मस्जिद

 

syna
यहूदियों का धार्मिक स्थल सिनेगाग

 

 

 

 

 

 

जर्मनी देश की राजधानी बर्लिन में एक अनोखा प्रयोग करने की तैयारी हो चुकी है। यहां रहने वाले मुसलमानों, यहूदियों और ईसाइयों ने मिलकर एक ही इमारत में तीनों धर्मों के प्रार्थनास्थल बनाने का फैसला किया है। इस इमारत का नाम होगा दि हाउस आॅफ वन। इसमें मुसलमानों का धार्मिक स्थल मस्जिद, ईसाइयों का गिरजाघर और यहूदियों का सिनेगॉग एक साथ बने होंगे। ईंट से बनी इस इमारत के बीचोंबीच एक चैकोर टॉवर होगा। कह सकते हैं कि यह इमारत का मुख्य हिस्सा होगा।

फैसला लेने वाले तीन धर्मों के नेताओं में से एक रब्बी टोविया बिन शेरिन के अनुसार
धर्मों में मतभेद होने के कारण लगातार पूरी दुनिया में हिंसा हो रही है। यह एक समस्या है कि सभी धर्मों के लोग खुद को एक दूसरे से ऊंचा समझते हैं।

धार्मिक नेता इमाम कादिर के अनुसार लोग समझते हैं कि सभी मुसलमान हिंसा करने वाले होते हैं। इस प्रयोग के ज़रिए यह छवि टूटेगी। उन्होंने कहा यह प्रयोग जोखिम भरा भी साबित हो सकता है लेकिन कभी तो किसी न किसी को ऐसा कदम उठाना ही होगा।