तीन दिन मे तीस बकरियन की मोत

taja janvaro me bimari copyजिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव बुड़ेरा। ई गांव मे सूखा के कारन जानवरन में 26 मार्च से बोहतई गम्भीर बीमारी फेली हे। तीन दिन के भीतर गांव मे तीस बकरियन की मोत हो गई हे। सूचना देय के बाद भी कोनऊ जिम्मेंदार अधिकारी गांव नईं पोहचो हे।
ब्रजभान यादव बताउत हे की गांव में तीन दिन से बकरियन में बोहतई गम्भीर बीमारी फेली हे। इक्कट्ठा आठ-आठ, दस-दस बकरियन की मोत होत हे। भरोसी ढीमर बताउत हे की मोये पैंतालिस बकरी हती। जोन तीन दिन के भीतर आठ बकरिया मर गई हे। बाकी अभे बिमार हे। हम लोग डाक्टर खा बुलाउन गये हते, तो डाक्टर कहत हतो की दो दिन बाद आहों। हम पांच हजार रूपइया की दवाई करा चुके हे। कछू आराम नई लगो हे। मंगल यादव बताउत हे की हमने अस्पताल में सूचना दई हती, कोनऊ देखन नई आओ हे। डाक्टर कहत हे की अपनी बकरिया एतई लाओ। एक दो बकरियां हों तो ले जा सकत हे। पचास बकरी केसे ले जेहे। हमाये गांव मे तीस बकरी मर चुकी हे। पनवाड़ी पशु अस्पताल को डाक्टर रविन्द्र सिंह राजपूत बताउत हे ऊ गांव के बारे में मोये कोनऊ सूचना नई मिली हे। अस्पताल में तीन लोग हे। कम्पाउडर सौरा चैका गांव दवाई लेके गये हे। अगर मे गांव जात हों तो अस्पताल बन्द हो जेहे। जोन बकरी बीमार हें ऊखे दवाई नई लगाई जात हे। जोन दवाई सासन केती से आई हे ऊखे बीमारी से पेहले लगाने परत हे।