ठण्डी से ठिठुरत मनई

images (1)मनई ठण्डी से ठिठुरत अहैं। हिंआ तक कि मनई ठण्डी के कारण बाहर नाय जाते। सरकार के तरफ से गांव वालेन का कम्बल बांटै कै आदेष आय। लकिन देखा जाए तौ कहूं कहूं अबहीं तक कम्बल नाय बंटा बाय। सिर्फ फैजाबाद तहषील पै षहर के मनई का मिला बाय बस। सरकार के हिंआ से नाम कै योजना बाय कि गांव वालेन का दियै कि ताई।

सरकार का कम्बल कै योजना निकारै के बाद भी गांव मा कम्बल नाय मिला। जब योजना निकरी बाय तौ मिलै का चाही। योजना निकरे के बादौ गांव वाले ठिठुरैं तौ कवन फायदा होये? अगर सरकारी योजना आय तौ जांच कराय के पात्र मनई का दियै का चाही। ताकी गरीबन का कमसे कम कम्बल तौ मिल जाए।
डी.एम. अपने तरफ से योजना कै लाभ तौ दै देहे अहैं लकिन वकै देखभाल नाय हुवत बाय। जेतना कड़ाई के साथ नियम लागाथै वतना कड़ाई के साथ वकै पालन हुवय तौ बहुत फायदा होये। वहीं दूसरी तरफ अलाव भी नाय जलत। अधिकारिन कहाथे कि गांव मा अलाव जलै कै कउनौ नियम नाय बाय। लकिन कस्बा मा भी जल्दी नाय जलत।