टैनिस में सानिया मिर्ज़ा की जीत

(फोटो साभार: रॉबी मेंडेल्सन | विकिपीडिया)
(फोटो साभार: रॉबी मेंडेल्सन | विकिपीडिया)

मायैमी, अमेरिका। टैनिस की दुनिया में भारत का नाम आगे बढ़ाने वाले कम ही खिलाड़ी हैं और महिला खिलाडि़यों में सानिया मिर्ज़ा को ही लोग जानते हैं। खेल में कई उतार-चढ़ाव देखने के बाद एक बार फिर सानिया ने इस खेल के प्रेमियों को खुश होने का मौका दिया है। मायैमी शहर में अपनी पार्टनर मारटीना हिंगिस के साथ उन्होंने 5 अप्रैल को टैनिस की ‘मायैमी ओपन’ प्रतियोगिता का फाइनल मैच जीता। यही नहीं बल्कि इस प्रतियोगिता को जीतने के बाद सानिया टैनिस डबल (जो पार्टनर के साथ खेला जाता है) उसमें तीसरे नम्बर पर पहुंच गईं। सभी को उम्मीद है कि अपनी अगली प्रतियोगिता में अगर सानिया का प्रदर्शन इसी तरह बरकरार रहा तो टैनिस डबल में पहले नम्बर पर पहुंचने वाली वे पहली भारतीय औरत होंगी।

सानिया मिर्ज़ा का जन्म 15 नवम्बर 1986 को मुम्बई शहर में हुआ था। उन्होंने अपनी पढ़ाई हैदराबाद से की। सानिया छह साल की उम्र से टैनिस खेल रही हैं। 2001 में उन्होंने अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर टैनिस खेलना शुरू किया और चार ही सालों में अपने लिए बहुत नाम कमा लिया।
सानिया टैनिस के खेल में सबसे सफल भारतीय महिला हैं। 2007 में टैनिस में वे दुनिया में सत्ताइस्वें नंबर पर थीं पर चोट लगने के कारण अब वे सिर्फ पार्टनर के साथ टैनिस खेलती हैं।