टूट हवै पुलिया

टूट हवै पुलिया
टूट हवै पुलिया

जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, गांव करौंदी कला। हिंया दलित बस्ती के पुलिया लगभग एक बरस से टूट परी हवै। या कारन रोजै आवैं जाये मा लगभग पांच सौ मड़ई परेशान रहत हवैं। पुलिया बनावैं खातिर कइयौ दरकी प्रधान से कहा गा हवै, पै आज तक नहीं ध्यान दीन गा हवै।
हिंया के राजा, भगत, कल्लू अउर भुट्टी का कहब हवै कि हमार दलित बस्ती के पुलिया टूटै से हमैं आवै जाये मा बहुतै परेशानी होत हवै। यहै पुलिया से हमार छोट-छोट बच्चा स्कूल जाये खातिर निकरत हवैं। टूट पुलिया मा गिर के चांेटा जात हवैं। यहै से हम प्रधान बाबूलाल से पुलिया बनावै खातिर कहे हन, पै वा कुछौ नहीं सुनत आय। अगर प्रधान हमार बस्ती के पुलिया बनवा दे तौ नींक होइ। प्रधान बाबूलाल का कहब हवै कि अबै पुलिया बनावै खातिर खाता मा रूपिया नहीं आय। जबै रूपिया आ जई तौ बनवा दीन जई। अबै नाली मा काम लाग हवै। अगर रूपिया बची तौ मैं पुलिया बनवा देहूं।