टूटो कुआं, मोत खा बुलावा

कुआं को जा हाल
कुआं को जा हाल

जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव रिवई। एते पालन मोहल्ला में बनो कुआं लगभग दस साल से टूटो परो हे। जीमें आये दिन छोट-छोट बच्चा गिरत रहत हें, पे ऊखे लाने प्रधान कोनऊ ध्यान नई देत आय।
प्रेम नारायन पाल, रम्मी ओर माया ने बताओ कि जा कुआं हमाये मोहल्ला में सैकड़न साल पेहले खुदो हतो। जभे हैण्पम्प न हते तभे हम लोग एई कुआं को पानी पियत हते। अब सरकार ने पानी खे सुविधा खे लाने घर-घर टोंटी लगवा दई हें। जीखे कारन दस साल से टूटो कुआं खा कोनऊ ध्यान नई देत आय।
कन्धीलाल पाल बताउत हे कि जा कुआं जमीन के पट बनो हे। जीमे न चैतरा बनो आय न खम्भा लगे हें। जीखे कारन बच्चा खेलत-खेलत कुआं में गिर जात हे। तुलसा बताउत हे कि हमाये जानवर गिर जात हें। जा कुआं के पानी से हमाये पूरे मोहल्ला के लगभग तीन सौ आदमियन खा निस्तार होत हे। खारा होय के कारन पियत नइयां पे नहायं धोय खा काम चलत हे। छह महीना पेहले प्रधान आओ हतो। कहत हतो कि कुआं बनवा दओ जेहे, पे आज तक नई बनो आय।
प्रधान भजनलाल ने बताओ कि मेंने एक महीना पेहले जेई राजेश गुप्ता खा लिवा के कुआं देखे गओ हतो। ऊ कुआं खा दुबारा बनवाये खे लाने स्टीमेट बनाये खा कहो हे। मजदूर भी अभे नई मिलत आय ओर चुनाव होय के कारन सब काम भी बन्द हें।