झाँसी जिले के बबीना में नाकाम आंगनबाड़ी केंद्र, बच्चे कुपोषण के शिकार

जिला झांसी, ब्लाक बबीना,सिमरावारी गांव की आंगनबाड़ी का हाल यह है कि कुपोषित बच्चों की संख्या दिन पे दिन बढ़ती जा रही हैं बच्चों के मां बाप का आरोप है कि आंगनबाड़ी केंद्र से बच्चों को फायदा नहीं हो रहा है
हसमुख का कहना है कि मेरे दो साल के बच्चें का वजन बहुत कम है आंगनबाड़ी ने कभी हमारे बच्चें को नहीं तौला है
रीता ने बताया कि आंगनबाड़ी बच्चों को दवा बस पिलाती है बच्चों का वजन नहीं लेंती हैं कौशिल्या ने बताया कि डाक्टर को दिखाया था तो बच्चें का वजन कम बता रहे थे परन्तु इलाज कुछ नहीं हुआ है
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुमन यादव का कहना है कि हर तीन महीनें में डाक्टर आते  हैं और बच्चों का वजन लिया जाता है
ए एन एम कविता चौधरी का कहना है कि हर महीनें बच्चों का वजन लेतें हैं कुपोषित बच्चे की पहचान वजन और उमर के आधार पर की जाती है
बाईलाइन-सफीना

Published on Nov 21, 2017