जीवन के लेल पानी जरूरी

एई तपती धुप अउर भीसन गर्मी में पानी बहुत जरूरी हई। अभी खाना के बीना एक पल आदमी रह सकई छई। लेकिन पानी बीना एक क्षण भी न रहतई।

एई के लेल सबसे ज्यादा जरूरी हई जगह जगह चापाकल। लेकिन अभी गांव में देखे के मिलई छई कि जहां जरूरत हई दस लोग के रास्ता हई उहां भी चापाकल न हलल हई। जेइ कारण उहां आवे जाय वाला लोग के पानी के सुविधा न मिल पवई छई। जहां तहां चापाकल हलल भी हई उ लोग कुछ दिन तक बाहर रखई छई। लेकिन बाद में लोग अपना अन्दर में घेर लेई छई। जेइ कारण परोसी के भी लोग के भी सुविधा न मिल पवई छई। सरकार जगह जगह पर चापाकल कई फन्ड से देई छई। लेकिन एकर फायदा कम ही लोग के मिल पवई छई। अगर सरकार चापाकल हलबवई छथिन ओइ के बाद जांच करतियई कि आस पास के लोग के सुविधा मिलई छई कि न। लेकिन इहां त हला देल ओइ के बाद कोई देखु वाला न जाई छई। जेई कारण केतना चापाकल खराबे परल रहई छई त केतना पर कुछ लोग अपन कब्जा जमा लेई छथिन।

अगर सरकार जरूरत मन्द जगह पर जांच क के चापाकल हलवइतियई या हलवा के जांच करतीयई त गर्मी वर्शा या हमेषा आवे जाय वाला लोग से लेके पड़ोस के लोग के पानी के सुविधा मिलतीयई।