जिन्दगी के साथे करत खिलवाड़

mahila mudda copyजिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव देवगनपुरा, दलित बस्ती की दलित ओरत रिंकी को आरोप हे की ससुराल वाले ऊखे जिन्दगी के साथे खिलवाड़ करत हे। विरोध करें पे मारपीट करत हे।
रिंकी बताउत हे की मोओ आदमी मोहन पांच साल पेहले आगी लगा के खत्म हो गओ हतो। मोये छोट्-छोट् दो बच्चा हते। ससुराल वालेन ने पंचायत जोड़ के मोये देवर जीतेन्द्र के साथे साथे राख दओ हतो। मोये देवर के साथे डेढ़ साल से रहत हो गये हे। अब ससुर ओर सास देवर की शादी करें चाहत हे। मे मना करत हों तो गाली गलौज करत हे। 7 मई खा मोये साथे मारपीट करी हती। मे अपने मायके हरपालपुर चली गई हती। ससुर ने मोये खिलाफ पनवाड़ी थाना मे झूठो मुकदमा लिखाउत हते। मोये पता चलो तो मे शाम खे वापस आ गई। थाना गई ओर अपने बच्चा लये। ससुराल वालेन के खिलाफ अपने साथ भये घटना की दरखास दई। पुलिस ने ससुर खा थाना मे बैठा लओ हे। पे कोनऊ कारवाही नईं करी हे। राजीनामा बनायें को दबाओ बनाउत हे।
देवर जीतेन्द्र कहत हे की में अभे राखे खा तैयार हों। पे ऊ हमाई कही नई मांनत हे। अगर हम कछू करत हे तो कभऊं आगी लगायें की धमकी देत हे तो कभऊं फांसी लगा के मरें की बात कहत हे। एई से हम कहत हे की रिंकी हमें लिख के दे दे। की ऊ कछू न करहे। अगर कछू करत हे तो ऊखे जिम्मेंदार हम नइयां।
पनवाड़ी थाना को मुन्शी प्रेमचन्द्र गौतम कहत हे की अभे मुकदमा नईं लिखो गओ हे। ससुर खा पकर लओ हे।

 रिपोर्टर – सुरेखा राजपूत