जा हे दरखास

जा हे दरखास
जा हे दरखास

जिला महोबा, ब्लाक कबरई, कस्बा कबरई। थाना गेट के सामने बाल कटिंग (सैलून) की दुकान में खुले आम जुआ खेलो जात हे। जीसे तमाम घरन के सीधे सादे लड़का पढ़ाई लिखाई छोड़ के आपन जिन्दगी बरबाद करत हे। ईखे लाने पुलिस प्रशासन कोनऊ ठोस कदम नई उठाउत आय। एईसे 4 मार्च 2014 खा तहसील दिवस महोबा में एस.पी. आर.एल. वर्मा खा दरखास दई हे।
कबरई देहात के रहे वाले चुनूवाद पुत्र छोटा ने बताओ कि कबरई कस्बे में थाने के सामने एक बाल कटिंग की दुकान हे। जीमें ओतई के रहे वाले आदमियन के सहयोग से जुंआ खेलायंे ओर गांजा बेंचे जेसे अवैध काम करे जात हें। जीसे केऊ गरीब घरन के लड़का मेहनत मजदूरी से कमा खे लाये वालो रूपइया जुंआ में उड़ा देत हें। जीसे ऊखे परिवार में पालना पोषण की समस्या भी सामने आउत हे। एई से हम 4 मार्च 2014 खा तहसील दिवस में एस.पी. खा दरखास दई हे। कबरई थाने के एस.ओ. नारायण त्रिपाठी बताउत हें कि मोये एते जा दरखास आई हती। जीखी जांच मेंने खद करी हती, पे ओते जंुआ खेले ओर गांजा बेचे जेसे कोनऊ काम नई होत आय। अगर कभऊं एसे गन्दे काम होत मिलहे तो कड़ी कारवाही करी जेहे। एस.पी. आर.एल. वर्मा ने कहो कि ऊसई तो सिपाही गश्त में रहत हें, पे अब ओर नींक से जांच कराई जेहे। जीसे जुआ गांजा जेसे गन्दे धन्धा बन्द हो सके।