जान माल का खतरा, पुलिस से गोहार

जिला बांदा, थाना क्षेत्र कमासिन। हेंया के एक मनसवा का आरोप है कि बलात्कार करै वाले आरोपियन का गिरफ्तारी के खिलाफ 5 मई से अनशन मा बइठ हैं। कोरी जाति के एक मनसवा का कहब है-“मोर सोलह साल के लड़की के साथै 26 अगस्त 2014 का समय बारह बजे गांव का ठाकुर जाति का ज्ञान सिंह बन्दूक देखा के बलात्कार करिस। 27 अगस्त का कमासिन थाना मा रपट लिख गे है। या खुन्नस मा ज्ञान सिंह के परिवार वाले मिलके 7 अक्टूबर का आठ बजे सुबेरे मारपीट करिन। 7 अक्टूबर का या घटना के भी रपट लिख गे। 19 अक्टूबर 2014 का घर के चोरी भी कई लिहिन। हमका उंई लोगन से बराबर जान माल का खतरा बना है। पुलिस आज तक उंई लोगन का गिरफ्तार करैं के नतीजा तक नहीं पहुची आ। या मारे 5 मई 2015 से अब अशाक लाट तरे अनशन मा बइठ गये हौं। जबै तक कारवाही न पूरी होई तबै तक अनशन मा बइठ रहिहौं।” कमासिन थाना के एस.ओ. हरिशरण यादव कहिन कि या मामला मा जबै गिरफ्तारी का आदेश मिली तौ पकड़ लीन जइहैं। या मामला पुलिस विभाग के बड़े अधिकारिन के स्तर मा है। एस.पी. से बात करैं के कोशिश कीन गे, पै बात नहीं होई पाई आय।