जांच के बाद मिलतइ रूपईया

जिला सीतामढ़ी, प्रखंड बथनाहा, गांव पंचायत तीरकौलीया। इहां के लगभग दु हजार शौचालय के आवेदन पि.एच.डी. विभाग में लगभग तीन महिना पहिले जमा भेलई। लेकिन अभि तक उनका सब के शौचालय के रूपईया न मिललइ ह।
लाभार्थी प्रमिला देवी कहलथिन कि हम पांच महिना पहिले कर्ज लेके शौचालय बनइली। शंकर राय, उर्मिला देवी, किशोरी राम सब कहलथीन कि अपने से शौचालय बनावे पर सरकार मनरेगा अउर पि.एच. डी. से रूपईया मिलईत रहलई। तब हम सब कर्ज लेक शौचालय बनइली। अब सुनली ह कि केवल पि.एच.डी. से रूपईया मिलतई। तब हम सब तीन चार महिना पहिले आवेदन जमा कर देली अउर अभी तक रूपईया न मिलल ह। इहां के मुखिया मनिषा कुमार शुक्ला कहलथिन कि हमरा पंचायत से लगभग दु हजार शौचालय के आवेदन पि.एच.डी. विभाग जमा हए लेकिन विभाग से रूपईया देवे न करइ छई।
प्रखंड कोडिनेटर संतोष कुमार कहलथिन कि हमरा यहां पुरा प्रखंड के लगभग छह हजार आवेदन पि.एच.डी. विभाग में आएल हई। जब सब आवेदन पर जांच हो जतई त जिनकर सही होतई त उनकरा बारह हजार रूपईया मिलतई। पि.एच.डी. के बड़ा बाबू कहलथिन कि जिला में जे भी आवेदन आयल हइ ओई पर जांच चल रहल हई। बहुत आवेदन गड़बड़ हई जांच हो जतई त एक महिना के अंदर रूपईया मिल जतई।