जहाज़ डूबने पर हज़रों मरे – पुलिस को मानव तस्करी का संदेह

इटली। यूरोप के इटली देश के पास एक नाव के पलटने से करीब ग्यारह सौ लोगों की मौत हो गई। 13 से 20 अप्रैल के बीच एक के बाद एक पांच नावें पल्टीं। माना जा रहा है इनमें आसपास के देशों के लोग सवार थे जिन्हें गैरकानूनी तरह से यूरोप में मज़्ादूरी कराने लाया जा रहा था।
ज़्यादातर ये जहाज़्ा भूमध्य सागर से यूरोप की तरफ आ रहे थे। मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। क्योंकि इनमें सवार लोगों का कोई रिकाॅर्ड नहीं है, यह कहना मुश्किल है कि कितने मारे गए हैं। जो सत्ताइस लोगों को बचाया गया, उन्होंने कहा कि अंदाज़्ान दो हज़्ाार लोग रहे होंगे।
21 अप्रैल को पुलिस ने जहाज़्ा के कप्तान और उनके सहायक को गिरफ्तार कर उन पर नरसंहार का मामला दर्ज किया। पुलिस को संदेह है यह मानव तस्करी का मामला है। यह भी शक है कि कहीं पुलिस के डर से कप्तान ने जानबूझकर जहाज़्ा को डुबो दिया हो। खबरों के अनुसार यात्रा करने वालों में से करीब तीन सौ लोग पिंजरों में बंद थे।
जहाज़्ा पर तीन सौ से ज़्यादा औरतें और बच्चे थे। राहत दल और हेलिकॉप्टर हादसे में लापता हुए लोगों की तलाश कर रहे हैं। इस दुर्घटना ने यूरोप में गैरकानूनी तरह से लोगों को नाव से लाने पर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। हालांकि ऐसी घटनाएं पहले भी हुई हैं पर इसे आज तक का सबसे बड़ा हादसा माना जा रहा है।