जनता करत हे विकास को इन्तजार

awas
लोहिया गाव पास होय के बाद जा हाल

महोबा जिला में सरकार ने डाक्टर राममनोहर लोहिया ग्राम आवास योजना के तहत विकास कराये खा गांव तो चुने लए हे, पे अभे तक ऊ गांव में न रूपइया भेजो हे ओर न कोनऊ विकास को काम चालू हे। जभे की इ योजना के भीतर बिजली विभाग, जल निगम, समाज कल्याण पी.डब्लू, डी जेसे 36 विभाग शामिल हे। सरकार ने जोन गांव चुने हे ऊमें जैतपुर ब्लाक को अकौना गांव की दलित बस्ती मे न नाली ओर  खड़ण्जा न होए से पानी भरो रहत हे ओर निकरें में बोहतई परेशानी आउत हे। कबरई ब्लाक को टीकामऊ गांव की आबादी तेरह सौ तिरानवे हे। गांव के आदमियन खा लगभग डेढ़ किलो मीटर दूर से पानी लेन परत हे। जभे कि सरकार ने मार्च महीना में गांव चुन के विकास कराये खे एक साल को समय कहो हे। तीन महीना पूरे निकर गए गांव में विकास  के नामो निशान नईया। सरकार नौ महीना में कित्तो ओर कोन-कोन विकास करा पाहे। आखिर ई बात को ध्यान देय की बात किखी आय, सरकार की या फिर जनता की? सरकार जनता की परेशानी दूर करें को झूठो आश्वासन देत हे जीसे जनता अपनी परेशानी दूर होय को इन्तजार करत रहत हे, पे दूर नई हो पाउत हे। आखिर सरकार जनता खे झूठो भरोसा देके ऐसो काय करत हे। सरकार गरीबन खे योजना लागू कर इत्तो रूपइया खर्च करत हे । पे ऊ योजना को लाभ गरीब आदमियन तक नई पोहच पाउत हे तो पास भओ रूपइया कहां जात हे। ई बात के जवाब को इन्तजार महोबा जिला की जनता करत हे।