छिन गा रहै कै ठिकाना

faizabad - bhara paniजिला फैजाबाद, ब्लाक पूराबाजार, गावं मड़ना, मूड़ाडिहा, सलेमपूर, पूरेचेतन, मूड़ाडिया बस्ती। हिंआ बाढ़ आवै के कारण घर डूबै से कइयौ मनई बेघर होय गये। पूरेचेतन गावं कै राममिलन, संतराम, तुलसीराम बताइन कि ई गावं मा तीस घर बाय अउर सबकै सामान, घर, जानवर भी डूब गये बाय। मड़ना गावों  कै राजरूप, रामकेवल बताइन कि हिंआ हर बार बाढ़ आवा थै। सामान, घर डूब जा थै। यहमा फसल कै बहुतै नुकसान हो गै बाय।
मूड़ाडिया माझा कै भरतराम, जगन्नाथ, रामकरन बताइन कि हमार घर छप्पर कै बाय अउर बाढ़ कै कारण छप्पर गिर गै बाय। केहू-केहू कै घर तौ बाय लकिन कुछ गरीब मनई कै घर नाय बाय तौ कहां रहिहै ? अउर यही गावं कै बुद्धिराम, कृपालराम, चन्दर बताइन कि पन्द्रह साल से हमरे सब बसा हई। लकिन अब तीन साल से एस.डी.एम. नोटिस भेजवाये अहैं की जमीन छोड़ दिया यही कै ताई मुकदमा चलत बाय।
नाव चलावै वाले लल्लू, राधेश्याम निसाद बताइन कि हमरे सबकै पांच  दिन कै ड्यूटी लाग बाय मनई, जानवर अउर सामान निकारै कै। लेखपाल रामनिहाल प्रजापति बताइन कि पांच गांव कै देख-रेख हमैं मिला बाय। पानी नेपाल से छोड़ा जा थै यहि से ई पानी हिंआ आवा थै। ई बाढ़ मा दुई सौ सत्तर मनई प्रभावित हुअत बाटे। दाल, चावल, पन्नी, लालटेन अउर राशि ढ़ाई हजार रुपये सरकार दिया थै। अपर जिला अधिकारी ज्वाला प्रसाद तिवारी बताइन कि जहां बाटे ऊ जमीन छोडि़हैं तौ उनका सरकार दूसर जमीन रहै का दे। लकिन गावों  वाले जमीन छोड़त नाय बाटे।